• Rudrabhishek (महाकाल रूद्राभिषेक पूजन)

Rudrabhishek (महाकाल रूद्राभिषेक पूजन)

  • Rs. 7,000

Available Options

hi, this is a test.

रुद्राभिषेक में शिवलिंग की विधिवत् पूजा की जाती है, इसमें आप दुग्ध, घृत, जल, गन्ने का रस, शक्कर मिश्रित जल अपने इच्छा के अनुसार उपयोग कर सकते हैं। नियम निम्नांकित है --

पूजन - सभी देवी देवताओं का विधिवत् पूजन करें।

अभिषेक - श्रिंगी द्वारा अभिषेक करें, रुद्राष्टाध्यायी का पाठ करें।

रुद्री पाठ की विधियाँ--

शुक्लयजुर्वेदीय रुद्राष्टाध्यायी का पाठ (1 या 11 बार)

रुद्राष्टाध्यायी का पंचम और अष्टम अध्याय का पाठ।

कृष्णयजुर्वेदीय पाठ का "नमक" पाठ 11 बार उसके बाद "चमक" पाठ के एक श्लोक का पाठ। (एकादश रूद्र पाठ)


शिव सहस्रनाम का पाठ।

रूद्र सुक्त का पंचम अध्याय का पाठ।

उत्तर पूजन पुन: पूजन करें।

बिल्वार्पण आचार्य शिवमहिम्न स्तोत्र आदि शिव श्रोत्रो का पाठ करते हुए बिल्व अर्पित करें।

आरती मंगल आरती करें।

पार्थिव पूजन

सर्वप्रथम पवित्रीकरण करें।

शिवलिंग निर्माण - सर्वप्रथम काली मिट्टी से शिवलिंग निर्माण करें यहाँ आप 121 रुद्री बनावें, आचार्य से पूछें कि क्या क्या बनाना होगा।

प्रतिष्ठा प्रतिष्ठा करें।

गणेश पूजन गणेश तथा आवाहित देवताओं का पूजन करें।

शिव पूजन शिवलिंग का पूजन करें।

अभिषेक रुद्राभिषेक करें आचार्य रुद्री का पाठ करें।

उत्तर पूजन  शिव पूजन करें।

बिल्वार्पण  आचार्य स्तोत्र पाठ करें यजमान बिल्व अर्पित करें।

हवन हवन करें।

आरती

दक्षिणा आचार्य को दक्षिणा भूयषी दें।

विसर्जन!

Write a review

Please login or register to review
Related Products

Tags: Shiv Puja Poooja